Shayari Kaise Bole | How To Present Shayari

0
416
0
(0)

आज की ये पोस्ट “Shayari Kaise Bole” Shayari लिखने वालों के लिए Helpful है। अगर आपके दिमाग में “shayari kaise likhe” प्रश्न घूमता रहता है और भी शुरू कर चुके हैं। लेकिन आप गलतियां किये जा रहे हैं, तो आपको मालूम होना चाहिए। कई बार आप किसी को शायरी बोलते हुए सुनते हो, तो आप भी सुनने के बाद वैसा ही लिखने का प्रयास करते हो। खैर, ये सही भी है आखिर शायरी लिखने की शुरुआत ऐसे ही होती है। यहां आप सुनने के बाद उसे लिखा हुआ नहीं देखते और दिमाग में जैसा सुना उसी टोन में लिखकर कुछ गलती कर देते हैं। वही मैं आपको बताने वाला हूं।

Shayari kaise bole

ये भी जाने – शायरी कैसे बोले

कुछ दिन पहले एक नए शायर की कुछ लाइन मेरे whatsapp पर आई थी। जब मैंने उसे पढ़ा, तो मुझे लगा कि कहीं न कहीं ये गलती भी आपकी नजर में होनी चाहिए।

1. कि का Use करके Line का repeatation करना – जी हां, ये समझने के लिए आपको मैं कुछ लाइन बताता हूँ देखिएगा –

नज़र चुरा लो चाहे तुम मेरे ही रहोगे,

कि नज़र चुरा लो चाहे तुम मेरे ही रहोगे,

हम गम सहेंगे जैसे तुम भी सहोगे,

तुम भी सहोगे…

अब जब आप ये लाइन पढ़ेंगे, तो आपको मालूम ही नहीं चलेगा कि इसमें कितनी लाइन लिखी गई है। बस आपको ये मालूम चलेगा कि बोली कितनी गई है। दरअसल 2 लाइन ही इसमें है। शायरी बोलते वक़्त जो repeatation होता है, कई बार नए शायर उसे भी लिख देते हैं।

2. Short वीडियो से अधूरी शायरी – आज का समय short videos का है। आप भी instagram reels वगैरा देखते होंगे। शायरी के प्रति लोगों की दिलचस्पी बहुत बढ़ी है। कई बार shayari pages पर मैंने ये देखा है कि youtube से ही किसी shayar की शायरी cut करके डाल दी जाती है। उसमें भी एक लाइन cut करने के बाद डाल दी जाती है। जैसे एक शायरी इस तरह है –

मैंने ख्वाब तुम्हें बताकर गलती की,

मेरा जुड़ा हुआ दिल दिखाकर गलती की,

अब समझ आ रही है खुद की गलती हमें,

हमने तुम्हें पास बुलाकर गलती की।

जैसा कि मैंने बताया लोग क्या करते हैं, वीडियो cut करके डाल देते हैं जिससे तीन लाइन ही कई बार सुनने को मिलती है। इस तरह – 

मेरा जुड़ा हुआ दिल दिखाकर गलती की,

अब समझ आ रही है खुद की गलती हमें,

हमने तुम्हें पास बुलाकर गलती की।

बोलते वक़्त इस तरह हो जाती है –

मेरा जुड़ा हुआ दिल दिखाकर गलती की,

कि मेरा जुड़ा हुआ दिल दिखाकर गलती की,

अब समझ आ रही है खुद की गलती हमें,

हमने तुम्हें पास बुलाकर गलती की।

ऐसे में नए शायर शायरी को इस तरह समझ लेते हैं।अगर आप भी एक नए शायर हैं और आपको शायरी लिखने और बोलने में फर्क पता नहीं है, तो इस बात को हमेशा ध्यान में रखें। 

Conclusion : उम्मीद है आज की ये पोस्ट “shayari kaise bole” आपके लिए helpful रही होगी। अगर आप जानना चाहते हैं, Shayari kaise likhte hain, तो आप हमारी और भी पोस्ट्स इस ब्लॉग पर पढ़ सकते हैं। 

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here